नमस्कार

Inhindian आप सभी पाठकों का स्वागत करता है

16 Jan 2017

kailash singh

खुजली के लिए घरेलु नुस्खे-home remedies for itchy skin in hindi

दोस्तों खुजली एक चर्म रोग (Skin disease) है। सामान्य खुजली तो अपने आप ही कुछ देर  में ठीक हो जाती है मगर कभी-कभी खुजली ख़तम होने का नाम नहीं लेती और परेशानी का कारण बन जाती है,ऐसी खुजली किसी तरह के संक्रमण ,एलर्जी ,कीड़े का काटना ,गंदे कपडे पहनना ,मौसम के बदलाव से ,गंदे पानी से नहाने से या साबुन के केमिकल से हो जाती है। यदि आपको लगता है की आपकी खुजली को दो दिन से ज्यादा हो गए तो इसे हलके में न लें हो सकता है ये कोई इन्फेक्शन हो जो बढ़ता ही जायेगा तो क्यों न हम उसको आगे  बढ़ने से  पहले ही उपचार कर के ख़त्म कर दें। तो मैं आपको कुछ ऐसे नुस्खे बताता हूँ जो 100 % असरकारक हैं और जरूर ही आपके काम आएंगे।


नीम्बू-  नीम्बू में सिट्रिक एसिड और एन्टिफन्गल तत्व होते हैं इसलिए यह फ़न्गल इंफेक्शन से होने वाली खुजली और दाद खाज जैसे चर्म रोग को जड़ से ख़त्म कर देता है नीम्बू सिर्फ खाज खुजली के ही नहीं बल्कि स्किन को भी निखार देता है खुजली वाली जगह पर लगाते वक्त पहले तो जलन होती है मगर धीरे धीरे ठंडक मिलने लगती है। इसलिए खुजली वाली जगह पर या तो नीम्बू का रास लगाएं या नीम्बू काट कर एक टुकड़ा ग्रसित भाग पर रगड़ लें इस प्रक्रिया को दिन में तीन बार करें। आपको पहले दिन में ही फायदा देखने को मिल जायेगा ।


बेकिंग सोडा- बेकिंग सोडा को पानी में घोल कर उसका पेस्ट बनायें और खुजली वाली जगह पर लेप करे इस से उतनी जलन नहीं होगी जितनी नीम्बू से होती है। कुछ देर बाद  इसे साफ़ पानी से  धो दीजिये निश्चित ही फायदा होगा ।


तुलसी- तुलसी बहुत ही ज्यादा गुणकारी होती है और यह पौधा हिन्दू धर्म में शुभ संकेत भी है तुलसी  को सिर्फ खुजली ही नहीं बल्कि और भी कई सारे रोगों के रोकथाम में औसधि के रूप में प्रयोग किया जाता है। इसमें एन्टिफन्गल और एंटी बैक्टीरिया तत्व होते हैं। तो आप दो कप पानी में कुछ तुलसी की पत्तियो को उबालें और फिर ठंडा होने पर इस पानी को खुजली वाली जगह पर लगाएं बहुत जी जल्दी असर होगा।


देसी घी- देशी घी को गर्म कर के जहा पर खुजली हो रही है वह पर मालिश करते हुए लगाएं यह भी खुजली का बहुत अच्छा घरेलू उपचार है।


डेटॉल- जब भी आप नहाते हैं नहाने वाले पानी में दो चार बून्द डेटॉल की मिला लें क्योंकि डेटॉल में बहुत सरे तत्व होते हैं जो  बैक्टीरिया और फ़न्गल जैसी बीमारियो को दूर करने में काम आता है। या फिर आप खुल्दी वाली जगह पर कई से डेटॉल भी लगा सकते हैं।


तेल- नारियल का तेल ,नीम का तेल ,टमाटर का रस तुलसी का रस मुल्तानी मिटटी को लगाने से भी खुलजी में आराम मिलेगा।
--------------------------------------------------------------------------------------------------------


loading...

kailash singh

About kailash singh -

namaskar,adab,sat shri akal mai kailash singh rawat ek 3d,2d artist ke sath sath ke blogger bhi hu apne blog www.inhindian.blogspot.com blog ke jariye ap logo tak sabhi tarah ki jankari hindi men pahuchane ki koshish karta hu.apke har pal ke liye meri mangalkamnayen.

Subscribe to this Blog via Email :

1 comments:

Write comments